Wednesday, 5 September 2012

मतलब बेमतलब की


पन्ने, उन पर लिपटी चंद पंक्तियाँ, मतलब बेमतलब की
झूझती हुई, मतलब के लिए लडती हुई 
और पीछे खड़ी परछाई,
लिखने वाले की 
लिखता इंसान है या दिल या दिमाक या कला 
सुनती हवाएं हैं, या आकांशाए , मतलब बेमतलब की
मैं कुछ कहूँ और हवाओं पे तैरते हुए तुझ तक पहुंच जाएँ 
बातें, मतलब बेमतलब की 




4 comments:

  1. सार्थक सृजन , बधाई.

    कृपया मेरे ब्लॉग"meri kavitayen" की नवीनतम पोस्ट पर भी पधारें , आभारी होऊंगा.

    ReplyDelete
  2. now this is something interesting..:)

    ReplyDelete