Thursday, 12 September 2013

क्या आप अपने  दिल को जानते हैं?
उसके सारे इशारे 
वहम के पीछे छुपे कारण 
पहचानते हैं?
क्या आप अपने दिल को जानते हैं?
उसकी नफरत करने की क्षमता 
उसके प्यार करने के तरीकों से वाकिफ हैं?
आपके दिल की भी कुछ आदतें होंगी
पकड़ पाए हैं क्या आप उन्हें, स्वीकारतें हैं?
क्या आप अपने दिल को जानते हैं?

------------------

कल रात बिस्तर पर लेटे 
धीमे धीमे गिरती बारिश को सुना मैंने 
ऐसे बरस रही थी जैसे  रात के साथ 
शोर न करने का समझौता कर के आई हो   
एड़ियों के बल बरसी थी समझदार बरसात सारी रात